Allgazabposts
allgazabposts.com-tips-for-your-angry

इन टिप्स को अपनायें और ग़ुस्से को कहे बाय-बाय

दिनभर की भागदौड़, काम की थकान और अव्यवस्थित दिनचर्या के कारण आज अधिकतर व्यक्ति क्रोधी और चिड़चिड़े से हो गए है। क्रोध करने से इंसान मानसिक और शारीरिक तौर पर कमजोर होते जाता है और ये क्रोध ही आगे चल कर अन्य बिमारियों का कारण बन जाता है, जैसे अवसाद, ब्लडप्रेशर आदि। तो आइये इस लेख के द्वारा जानते है कि कैसे क्रोध करने की आदत से छुटकारा पा कर अपनी मानसिक और शारीरिक स्थिति को बेहतर बना सकते है:

दरी बना ले: क्रोध आने पर क्रोध के स्त्रोत से दूरी बना ले, अपने आप को उस जगह और परिस्थिति से दूर ले जाए जिसके कारण क्रोध आ रहा हो। हो सके तो कही बाहर घूमने निकल जाए या फिर ठंडी हवा में बैठ जाये, इससे दिमाग तंत्रिकाओं को आराम मिलेगा और गुस्सा कम होने लगेगा।

नज़रअंदाज़ करना शुरू करे: कही बार हम हर चीज को बड़ी गहराई से सोचने लगते है और यह भी तनाव और क्रोध का कारण बनता है, इसलिए जीवन में अपनी प्राथमिकता को समझे और चीजों को नज़रअंदाज़ करना भी सीखे।

ठंडा पानी: क्रोध आने पर आप जल्द से जल्द ठंडा पानी पीएं, ठंडा पानी पीने से गुस्सा शांत होगा और आप अच्छा महसूस करेंगे। क्रोध करते वक़्त ठंडा पानी पीने से शरीर में मौजूद अति सक्रिय रक्त कोशिकाएं शिथिल हो जाती है जिससे क्रोध कम करने में सहायता मिलती है।

सकारात्मक वातावरण: जहाँ तक हो कोशिश करे की सकारात्मक लोगों के साथ और सकारात्मक परिस्थितियों में ही रहे, इससे आपको गुस्सा आना ही कम हो जाएगा और आप नकारात्मकता से दूर प्रसन्न रहेंगे।

योग और ध्यान: योग और ध्यान करने से ग़ुस्से को बहुत हद तक कम कर सकते है। हर दिन प्राणायाम करने से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, जिससे अवसाद और तनाव से दूर रहा जा सकता है।

पसंद का काम करे: अपनी पसंद का कोई भी एक काम दिनभर में जरूर करे, चाहे वो दोस्तों से मिलने का हो, टीवी देखने का या फिर किताब पढ़ने का, इससे आपका मन अलग जगह लगेगा और क्रोध आने की प्रवर्ती भी कम होने लगेगी।

तो ये थे कुछ तरीके जिन्हें अपना आप अपना गुस्सा शांत कर सकते है, वैसे गुस्सा आना एक आदत है इसलिए हमें अपने आप पर भी ध्यान देना होगा और अपने आप पर नियंत्रण भी रखने की आदत डालना होगी।

Vijaya Jain

विजया वैसे तो एक पोस्ट ग्रेजुएट इंजीनियर और शिक्षक है, लेकिन लेखन के प्रति अपने रुझान के चलते इन्होंने अपने आप को लेखक के रूप में देखना ज्यादा पसंद किया। अपनी पढ़ाई के समय से ही ये लेखन क्षेत्र में सक्रिय थी। इनके लेख कई मैगज़ीन और वेबसाइट पर प्रकाशित हुए है। लेखन के साथ इन्हें पढ़ना - पढ़ाना और कुकिंग में भी रुचि है।

Add comment

Categories

Ad

Ad

Your Header Sidebar area is currently empty. Hurry up and add some widgets.